जंगल से भटक कर तेंदुआ घुसा बस्ती में घर में घुसे तेंदुए को अंकुल आइज कर रेस्क्यू टीम ने पकड़ा पहुंचाया मुकुंदपुर जू सेंटर

Share with:


विराट24 न्यूज़ रीवा-07-01-19

बैकुंठपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत रउरा गांव में उस समय दहशत का माहौल निर्मित हो गया जब शौच के लिए गए एक युवक पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया घायल युवक के द्वारा घटना की सूचना गांव में दी इसके बाद एकत्र ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे तो एक अन्य युवक के ऊपर भी जानवर ने हमला कर दिया जिसके बाद पता चला कि जंगली जानवर तेंदुआ है घटना की जानकारी पुलिस विभाग के साथ फॉरेस्ट विभाग को दी गई मौके पर पहुंचे बैकुंठपुर थाना प्रभारी पर भी तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया वहीं फॉरेस्ट विभाग के कर्मचारियों ने एकुलाइजर से बेहोश कर तेंदुआ को पकड़कर मुकुंदपुर स्थिति व्हाइट टाइगर सफारी ले गए जहां उसे रखा जाएगा।

– बैकुंठपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले रौरा गांव में उस समय दहशत का माहौल निर्मित हो गया जब सुबह शौच के लिए अरहर के खेत में गए धीरेंद्र रावत नाम के युवक पर जंगली जानवर तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया युवक किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से भाग कर आया और आसपास के लोगों को सूचना दी मौके पर पहुंचे ग्रामीणों में से दूसरे अखिलेश रावत नाम के युवक के ऊपर भी तेंदुए ने हमला कर घायल कर दिया जिसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस और फॉरेस्ट विभाग के अधिकारियों को सूचना दी। मौके पर पहुंचे बैकुंठपुर थाना प्रभारी मंगल सिंह ने अति उत्साह में यह कहकर अपनी सर्विस रिवॉल्वर से फायर कर दिया कि वह भी सिंह है और हम भी सिंह हैं मैं अभी जंगली जानवर को भगा देता हूं इतना कहते ही तेंदुए ने थाना प्रभारी मंगल सिंह के ऊपर हमला कर दिया जिसमें से वह गंभीर रूप से घायल हो गए स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। गांव में जंगली जानवर के आ जाने से आसपास के लोग एकत्र हो गए जिसके बाद जमा भीड़ के डर से तेंदुआ बस्ती की ओर भागा और बुटुआ पटेल नामक की महिला के गौशाला में घुस गया। मौके पर पहुंची फॉरेस्ट विभाग की और मुकुंदपुर जू की टीम ने गौशाला के गेट पर जाल लगाकर पटाखा फोड़ कर तेंदुए को पकड़ने का प्रयास किया लेकिन उनका पूरा प्रयास असफल रहा और 8 घंटे के प्रयास के बावजूद भी तेंदुआ पकड़ में नहीं आया। जिसके बाद मुकुंदपुर सफारी से पहुंचे डॉ राकेश तोमर ने गौशाला की ठाट काटकर तेंदुए को बेहोश किया जिसके बाद उसे पिंजरे में डालकर मुकुंदपुर जू सेंटर ले जाया गया है जहां उसको रखा जाएगा।

पूरी घटना के संबंध में स्थानीय निवासी अरुण प्रताप सिंह ने बताया कि पूरे गांव में सुबह से दहशत का माहौल है फॉरेस्ट विभाग के पास संसाधन नहीं है जिसके चलते तेंदुए को पकड़ना संभव नहीं हो पा रहा है ग्रामीणों ने तो यहां तक कह डाला कि अगर पुलिस और फॉरेस्ट विभाग के लोग पीछे हट जाए तो ग्रामीण स्वयं तेंदुए को बाहर निकाल कर भगा देंगे। वहीं घायल धीरेंद्र रावत ने बताया कि वह शौच के लिए गया था तभी तेंदुए ने पीछे से हमला कर दिया है ।जबकि डीएफओ विपिन पटेल ने बताया कि हमारे पास पर्याप्त संसाधन है मेरे द्वारा प्रयास किया जा रहा है कि बिना किसी प्रकार के नुकसान उठाये तेंदुए को पकड़ लिया जाए लेकिन जिस घर में घुसा है वहां अंधेरा है और तेंदुआ कभी ऊपर कभी नीचे के माले में चला जाता है जिससे सही उसका लोकेशन ट्रेस नहीं हो पा रहा है जिसे छत काटकर पकड़ा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *