हाथी और पंजे के बीच कमल

Share with:


विराट24 न्यूड

हाथी और पंजे के बीच सेमरिया में कमल

मतदान को अब महज 5 दिन बचे हैं रीवा जिले के 8 विधानसभा क्षेत्रों में से सबसे नया विधानसभा क्षेत्र सेमरिया जहां भारतीय जनता पार्टी को यहां की जनता ने दो बार अवसर दिया अब इस बार बदलाव की तरफ देख रही है यहां के लोगों का मानना है कि भारतीय जनता पार्टी को दो पंचवर्षीय अवसर देने के बाद अब तीसरी बार किसी अन्य पार्टी को मौका दिया जाए। कभी भाजपा के द्वारा ही कहा जाता था कि अगर किसी रोटी को एक तरफ ही सेकते रहे पलटे नहीं तो वह जल जाती है उसी की कथनी को दोहराते हुए यहां की जनता अब पलटने के मूड में है ।सेमरिया विधानसभा क्षेत्र में हाथी को पर्याप्त चारा मिला है जिसके चलते हाथी का कद बड़ा है यहां के वोटरों का मानना है कि लड़ाई हाथी और पंजे के बीच है ।निश्चित तौर पर अगर पंजे और कमल के बीच खींचतान का खेल चलता रहा तो हाथी निश्चित ही प्रत्याशी को नैया पार करा देगा ।सेमरिया का मतदाता यह मानता है कि जो नेता आज घर घर दस्तक दे रहे हैं वह 4 साल क्षेत्र में देखने को नहीं मिले कोई रीवा में अपनी राजनीतिक रोटी सेक रहा था तो कोई अपने व्यापार में लगा था जो उनके दुख सुख में खड़ा था उसी के साथ क्षेत्र की जनता एक साथ मिलकर 28 तारीख को अपने मत के रूप में समर्थन देगी यहां का गरीब तबका अभी भी सेमरिया के उन दो कांडों को नहीं भूल पाई है जहां मौत पर रोटी से की गई थी और पूरे क्षेत्र को दहशत के माहौल में जीना पड़ा था। अब देखना यह है कि धनबल को जीत मिलती है या फिर जनता अपनी ताकत दिखा कर उस समय को याद करेगी जब यहां कभी चंपा देवी , यमुना प्रसाद शास्त्री , शीतला प्रसाद ,राम लखन, राजमणि पटेल ,जैसे प्रत्याशी चुने जाते रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *