नामांकन के आखिरी दिन प्रत्याशियों ने दिखाया बागी तेवर

Share with:


विधानसभा 2018 निर्वाचन के नामांकन भरने के आज आखिरी दिन बीजेपी, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी में दिखे बगावती सुर ।कांग्रेस पार्टी से प्रीति वर्मा ने मनगवां विधानसभा क्षेत्र से भरा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपना पर्चा,वही बहुजन समाज पार्टी से के के गुप्ता व राजकुमार उर्मलिया ने टिकट ना मिलने से नाराज होकर निर्दलीय के रूप में पर्चा दाखिल किया। भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता प्रदीप सिंह पटना ने सिरमौर विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी का हाथ थाम कर भाजपा को बड़ा झटका दिया है। तो वही पिछली बार गुढ़ विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़कर भाजपा , कांग्रेस को कड़ी टक्कर देने वाले कपिध्वज सिंह ने भी समाजवादी पार्टी में शामिल होकर पर्चा दाखिल किया |
विधानसभा 2018 निर्वाचन के आखिरी दिन कांग्रेस पार्टी के चार नेताओ ने पर्चा भरा जिसमे जिला पंचायत अध्यक्ष व भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए अभय मिश्रा ने रीवा से तो त्योंथर से पिछली बार के प्रत्याशी रहे रामशंकर सिंह ने पर्चा भरा तो वही सेमरिया से भगत शुक्ला और हाल ही में बीएसपी से कांग्रेस में शामिल हुई मनगंवा से बबिता साकेत ने पर्चा भरा | सभी नेताओ ने स्थानीय व मूलभूत सुविधाओं के मुद्दे को लेकर जनता के बीच जाने और जीतने की बात कही |

रीवा जिले के आठ विधानसभा सीटों में सात सीटों के प्रत्यशियों ने पहले ही पर्चा भर दिया था और आज सेमरिया प्रत्याशी केपी त्रिपाठी ने हजारो समर्थको के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर पर्चा दाखिल किया | हम आपको बता दे की सेमरिया सीट से पिछली बार अभय मिश्रा की पत्नी नीलम मिश्रा विधायक (भाजपा) थी लेकिन अभय मिश्रा का भाजपा से कांग्रेस में जाने के बाद व स्थानीय मंत्री के साथ चल रहे विवाद के बाद नीलम ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया था जिसके बाद जनपद पंचायत अध्यक्ष केपी त्रिपाठी को सेमरिया का प्रत्याशी घोषित किया गया है | उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल , सांसद जनार्दन मिश्रा केपी त्रिपाठी के साथ पर्चा दाखिल करवाने उनके साथ पहुंचे |

सभी पार्टियों के विधानसभा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद सालो से क्षेत्र में कार्य कर रहे व विधायक बनने के सपने देखने वाले नेताओ ने पार्टी से बगावत कर निर्दली पर्चा दाखिल किया तो किसी ने दूसरी पार्टी का दामन थाम लिया | रीवा से पिछली बार बसपा से चुनाव लड़ने वाले केके गुप्ता ने टिकट न मिलने से नाराज होकर निर्दलीय पर्चा दाखिल किया है तो वही सिरमौर विधानसभा क्षेत्र से बसपा के ही प्रत्यशी रहे राजकुमार उर्मलिया भी निर्दली प्रत्यशी के रूप में परचा दाखिल किया है | कांग्रेस और भाजपा के नेता भी इस दौड़ में पीछे नहीं रहे और मनगँवा से कांग्रेस पार्टी की युवा नेता प्रीती वर्मा ने पार्टी से बगावत करते हुए निर्दली पर्चा दाखिल कर दिया तो वही सिरमौर में सालो से एक सक्रीय कार्यकर्ता के रूप में कार्य करने वाले कार्यकर्ता व कद्द्वार नेता प्रदीप सिंह को भाजपा से टिकिट न मिलने से दुखी होकर उन्हने सपा का दामन थाम लिया | पार्टी से टिकिट न मिलने से दुखी प्रदीप सिंह मीडिया से चर्चा करते हुए रो पड़े और कहा की पार्टी द्वारा उनके से दुसरी बार धोका किया गया है | पिछले चुनाव में गुढ़ से निर्दली रहे प्रत्याशी कपिध्वज सिंह भी सपा का दामन थाम मजबूत दावेदार के रूप में मैदान में है | पिछली बार बड़ी पार्टियों के वोटो का समीकरण बिगड़ने में इनका काफी दखल रहा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *