नगर निगम के कर्मचारी और कांग्रेसी पार्षद आमने-सामने कर्मचारियों ने निकाली रैली तो कांग्रेसियों ने किया तर्पण

Share with:


Virat 24 news Rewa

– नगर निगम परिसर में दफनाई गई गायो के मामले ने अब तूल पकड़ना शुरू कर दिया है | कांग्रेसी गायो के आत्मा की शांति के लिए आज शान्ति सभा का आयोजन कर 51 पंडियो द्वारा तर्पण कराया तो वही दूसरी तरफ निगम कर्मचरी संघ ने कांग्रेस पार्षद व नेता प्रतिपक्ष की पार्षदी शून्य करने कमिश्नर को ज्ञापन सौपा |
11 अगस्त की रात नगर निगम के कर्मचारियों ने मृत करीब एक दर्जन गायो को नगर निगम परिसर में ही दफना दिया था जिसकी जानकारी होने पर 12 अगस्त को एकत्रित हुए कांग्रेसी पार्षदों ने हंगामा करते हुए गायो को बाहर निकलवाया था उन्ही गायो की आत्मा शांति के लिए आज नगर निगम के पास शान्ति सभा का आयोजन कर 51 पंडियो से दफनाई गई जगह पर पूजा पाठ करा गायो का तर्पण कराया |

वही दूसरी तरफ कांग्रेसी पार्षदों के खिलाफ एकत्रित हुए नगर निगम कर्मचारियों ने निगम कार्यालय से एक रैली निकाल कर कमिश्नर कार्यालय पहुंचे जहा पार्षदों के खिलाफ कर्यवाही करने ज्ञापन सौपा | नेता प्रतिपक्ष अजय मिश्रा और पार्षद राम प्रकश तिवारी पर नगर निगम कमिश्नर को जूते मारने , कर्मचारियों को धमकाने सहित काम में बाधा उतपन्न करने की शिकायत करते हुए उनकी पार्षदी शून्य करने की मांग की साथ ही कहा की उन्हें नगर निगम में घुसने नहीं दिया जाएगा | वही नेता प्रतिपक्ष अजय मिश्रा ने कहा की नगर निगम किसी एक व्यक्ति का नहीं है हमे जनता ने चुना है जबभी उनका काम पडेगा तो हम नगर निगम जाएंगे उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा की नगर निगम कार्यपालन यंत्री शैलेन्द्र शुक्ल के दबाव पर सारे कर्मचारी ऐसा कर रहे है क्योकि अधिकांश निगम के कर्मचरी नियम विरुद्ध पदस्थ है और ना ही काम करते है |

– दरअसल पूरा विवाद शुरू हुआ था नगर निगम में दफनाई गई गायो से , विपक्ष के पार्षदों को गायो के दफनाए जाने की जानकारी होने के बाद जम कर हंगामा किया था और नगर निगम आयुक्त व महापोर के खिलाफ एफआईर करने को लेकर नगर निगम में ही घंटो हंगामा हुआ था हालाँकि अगले ही दिन नगर निगम आयुक्त ने मामले में दो सफाई कर्मचरियो सहित स्वास्थ्य अधिकरी अरूण मिश्रा को सस्पेंड कर दिया था लेकिन गायो के दफनाने की घटना से निगम को काफी सर्मिंदगी झेलनी पडी | मामले के कुछ दिन बाद कांग्रेस पार्षद राम प्रकाश तिवारी सम्बल योजना तहत उनके वार्ड के लोगो को कार्ड न मिलने से नाराज हो गए और नगर निगम पहुंच आयुक्त से जा भिड़े दोनों के बीच जम कर कहा सूनी हुई धीर धीर नेता प्रतिपक्ष और अन्य पार्षद भी नगर निगम पहुंच गए जहा पार्षदों ने शब्दों की मर्यदा को भूलते हुए नगर निगम आयुक्त को जम कर खरी खोटी सुनाई पार्षदों के इस व्योहार से निगम कर्मचारी भड़क गए और सारे कर्मचारी नगर निगम में ताला बंद कर पार्षदों के खिलाफ एफआई की मांग को लेकर अड़ गए और हड़ताल पर चले गए | दो दिन बाद जब पार्षदों के खिलाफ एफआईर दर्ज हुआ तो नगर निगम के कर्मचारी काम पर वापस लौटे | आज कांग्रेस पार्षदों ने शान्ति सभा किया तो कर्मचारियों ने उनके खिलाफ ज्ञापन सौपा कुल मिलाकर कांग्रेस पार्षद वर्सेज नगर निगम कर्मचारी चल रहा है अब इसका नतीजा क्या निकलेगा ये तो वक्त ही बताएगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *