अटल बिहारी वाजपेई को शौक था बघेली का जानिए किससे करते थे बघेली में बात

Share with:


विराट 24 न्यूज़ रीवा

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के निधन के बाद जहां पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई वही इस देश ही नहीं पूरे विश्व ने एक महान नेता को खो दिया अटल बिहारी बाजपेई के साथ बिताए हुए कार्यकाल की कई स्मृतियां शेष है जिनके लिए वह हमेशा हमेशा के लिए याद किए जाते रहेंगे उनकी स्मृति में रीवा से भी कई वाक्यआ है जो जुड़े हैं उनके प्रधानमंत्रित्व काल में उनके चालक और सुरक्षा मैन के पद पर 2001 से 4 तक पदस्थ एसएएफ के जवान वीर बहादुर सिंह ने बताया कि अटल जी का अपने साथ कार्य करने वालों के अलावा सेवादारों पर भी विशेष ध्यान रहा करता था अटल जी को बघेली बोलने का शोक भी था एक बार जब उनकी सुरक्षा और पायलट में लगे वीर बहादुर सिंह से प्रधानमंत्री ने पूछा कि आप कहां के रहने वाले हो तो उन्होंने बताया कि मैं रीवा का हूं तब से प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई उनसे हर बात बघेली में ही करने लगे पुरानी बातों को याद करते हुए वीर बहादुर सिंह बघेल ने बताया कि अटल जी अपने को कहते थे कि साहब या प्रधानमंत्री ना बोलें रिश्ते मैं कोई भी रिश्ता लगाकर उन्हें संबोधित करें इतना ही नहीं जहां भी वह जाते थे सबसे पहले अपने साथ लगे सेवादारों के लिए भोजन और अन्य व्यवस्थाओं के लिए कहते थे कभी भी ऐसा महसूस नहीं हुआ वह 1 प्रधानमंत्री के साथ अंगरक्षक और पायलट के रूप में कार्य कर रहे हैं बल्कि ऐसा लगता था कि अपने किसी सगे रिश्तेदार के साथ रहकर काम कर रहे हैं आज जैसे ही उन्हें जानकारी हुई के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की हालत गंभीर है तो TV के सामने से नहीं उठे और जब यह देखा कि भारत के प्रधानमंत्री अटल जी अब इस दुनिया में नहीं रहे तो बहुत दुखी हुए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *