निर्माण एजेंसी करा रही घटिया निर्माण

Share with:


विराट 24न्यूज़*

 

मऊगंज / घटिया निर्माण के भेंट चढ़ रही 54 करोड़ की नलजल योजना*

नगरवासियों को मीठा पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री नलजल योजना घटिया निर्माण कार्य के चलते खटाई में पड़ती दिखाई दे रही है उल्लेखनीय है कि इस महत्वाकांक्षी योजना का प्रमुख उद्देश्य नगरवासियों को पेयजल के संकट से निजात दिलाते हुए नगर के प्रत्येक घरों में मीठा पानी उपलब्ध कराना था लेकिन निर्माण कंपनी के द्वारा गुणवत्ताविहीन कार्य कराये जाने से नगरवासियों के अरमानों पर पानी फिरता नजर आ रहा है ज्ञात हो कि 54 करोड़ की भारी भरकम लागत वाली इस योजना अन्तर्गत निहाई में फिल्टर प्लांट एवं नगर के बार्ड क्रमांक 07 भाठी में उच्चस्तरीय पानी टंकी का निर्माण कार्य प्रगति पर है निर्माण कार्य केएनके प्रोजेक्ट फरीदाबाद की कंपनी द्वारा कराया जा रहा है जिसकी निगरानी पीआईयू जबलपुर के अधिकार क्षेत्र में है।

*कारीगरों ने उठाए गुणवत्ता पर सवाल*

नलजल योजना के निर्माण कार्य में हो रही लीपापोती के खेल में काम कर रहे कारीगरों ने खुद सवाल खड़े किये हैं जिससे उक्त कार्य की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो गए हैं कारीगरों की मानें तो विशालकाय पानी टंकी के निर्माण में छः एक के मसाले का प्रयोग किया जा रहा है उक्त निर्माण कार्य में पूर्णतयः राखड़ का प्रयोग किया जा रहा है जबकि बालू का तो नामोनिशान तक नहीं है वहीं पाइपलाइन विस्तार में भी नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं पाइपलाइन के बेस को कंक्रीट करने के बजाय सिर्फ मिट्टी डालकर दबा दिया जा रहा है जिसके बरसात के दिनों में धंसने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है।

*तो 54 करोड़ खर्च के बाद भी प्यासे रहेंगे मऊगंज के लोग*

बहुप्रतीक्षित नलजल योजना के निर्माण कार्य में व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है जिसमें समूचे नगर में पानी सप्लाई के लिए बनाई जा रही पानी टंकी से नगरवासियों को पानी उपलब्ध होगा या नहीं…? यह भविष्य की गर्त में है लेकिन इस विशालकाय पानी टंकी का गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य किसी हादसे को आमंत्रण देता जरूर दिखाई दे रहा है भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही इस नलजल योजना में समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो 54 करोड़ रुपये खर्च करने के बाद भी मऊगंजवासियों के कण्ठ सूखे ही रह जाएं तो इसमें कोई आतिश्योक्ति नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *