उद्योग मंत्री के भाई की दबंगई 11000 केवी लाइन के खंभों पर दौड़ाई जा रही 33000 और 440 केवी की लाइन

Share with:


रीवा

विराट 24 न्यूज़

-प्रदेश के मंत्री के चचेरे भाई की एक बार फिर दबंगई सामने आई है इनके द्वारा सभी नियम कानूनों को दरकिनार कर 11000 केवी की लाइन के खंभे में 33000 और 440 के वी की तार खिचवाई जा रही है जबकि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि उनके द्वारा किसी तरह की कोई परमिशन नहीं दी गई है अगर दी गई होगी तो जांच कराकर कार्यवाही की जाएगी ।जिस राइस मिल के लिए यह तार खींची जा रही है इसी मील के निर्माण के समय दीवार गिरने से 13 मजदूरों की जान चली गई थी जबकि दर्जनों घायल हुए थे इसके बावजूद एक बार फिर लापरवाही बरतते हुए स्थानीय लोगों की जान जोखिम में डाली जा रही है।सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत कोष्टा पंचायत अंतर्गत भुंडहा ग्राम है जहां पर प्रदेश के उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ला के चचेरे भाई महेंद्र शुक्ला के द्वारा एक राइस मिल एवं मैदा मिल का निर्माण कराया गया है इस राइस मिल के निर्माण के समय ही लापरवाही बरती गई थी जिसमें दीवार ढहने से 13 मजदूरों की दबने से मौत हो गई थी जबकि कई दर्जन घायल हुए थे उस समय उन पर यह आरोप लगा था कि कई मजदूरों को तो निकाला ही नहीं गया है इसके बावजूद इसी राइस मिल और मैदा मिल चलाने के लिए मंत्री के भाई के द्वारा अपनी दबंगई और पहुंच के चलते 11,000 केवी लाइन के खंभे पर 33,000 केवी की लाइन खिंचवाई जा रही है साथ ही इसी खंभे पर 440 बोल्ट कि भी लाइन खींची गई है एक खंभे में 3 लाइनों के खींचने के कारण तार इतनी नीची हो गई है कि कभी भी गंभीर घटना घट सकती है स्थानीय लोगों ने जब इसका विरोध किया तो महेंद्र शुक्ला ने पुलिस बुला कर लोगों को धमकी दिलवाई विरोध किया तो अंदर करवा देंगे। इन लोगों ने कलेक्टर से लेकर चीफ इंजीनियर तक शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई लोगों ने बताया कि गांव में राइस मिल और मैदा मिल होने के चलते कई बार इतने लंबे जाम लग जाते हैं कि स्कूल के बच्चे विद्यालय नहीं पहुंच पाते तो कई बार तार टूटकर सड़क में गिरने से घटनाएं घटित होते-होते बची हैं अगर तेज हवा के चलते 33000 केवी की तार गिरकर 11,000 से टकराती है तो भारी जन हानि हो सकती है चीफ इंजीनियर केएल वर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों ने शिकायत की है पश्चिमी डिवीजन के डी के द्वारा इसकी परमिशन देने की बात सामने आई है जांचकरवाकर के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।अभी काम रुकवा दिया गया है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *