रीवा कृषि उपज मंडी में लूट रहा किसान

Share with:


विराट 24 न्यूज़

जिले का किसान एक तरफ सूखे की मार झेल रहा है वहीं दूसरी ओर जो फसल तैयार भी हुई है उसे बेचने के लिए पूरा दिन इंतजार करना पड़ रहा है वही व्यापारी और अधिकारियों की मिलीभगत के चलते समर्थन मूल्य से भी कम रेट पर बेचने को मजबूर है ,करहीया मंडी पहुंचे किसानों ने फसल की खरीदी ना होने से नाराज होकर गेट पर ताला बंद कर दिया ।मौके पर पहुंचे तहसीलदार और थाना प्रभारी ने गेट खुलवाकर कल से खरीदी करवाने का आश्वासन दिया है। करहीया मंडी में व्यापारी और अधिकारियों की मनमानी की खबरें आए दिन सुनने को मिलती है लेकिन इन दिनों इन की मनमानी चरम पर है आज सैकड़ों की संख्या में सुबह से अपनी फसल को बेचने के लिए व्यापारियों का इंतजार रहे किसानों का सब्र उस समय टूट गया जब शाम तक कोई भी व्यापारी इनके अनाज को खरीदने के लिए नहीं पहुंचा। आक्रोशित किसानों ने मंडी गेट पर ताला बंद कर दिया और सरकार विरोधी नारे लगाने शुरू कर दिए, तालाबंदी की सूचना मिलते ही मौके पर चोरहटा थाना प्रभारी नागेंद्र सिंह एवं हुजूर तहसीलदार जितेंद्र तिवारी मौके पर पहुंचे और किसानों को समझाइश देते हुए आश्वासन दिया कि कल से व्यापारियों की संख्या बढ़ाई जाएगी और समर्थन मूल्य पर उनकी फसलों को खरीदा जाएगा ।किसानों ने बताया कि व्यापारी और अधिकारी मिले हुए हैं दो व्यापारी खरीददारी करने आते हैं और मनमानी रेट लगा कर किसानों को मजबूर करते हैं कि अपनी फसल उनके हाथों बेच दे। किराया भाड़ा लगा कर दूर दराज से आने वाले किसान मजबूरन सस्ते रेट पर अपनी उपज को बेच कर चला जाता है। किसानों के समर्थन में आई समाजसेवी कविता पांडेय ने बताया कि मनमानी के चलते किसान परेशान है एक तरफ से खरीफ़ की फसल बोने के लिए पैसो की आवश्यकता है दूसरी और उसका अनाज नहीं बिक रहा मंडी में आने के बाद व्यापारी मनमाने रेट पर खरीदी कर रहे हैं जिसे किसान लूट रहा है ।पूरे मामले को लेकर मंडी सचिव नागेश्वर कॉल से बात की गई तो उन्होंने भी माना कि व्यापारी मनमानी करते हैं समर्थन मूल्य से कम रेट पर किसानों की उपज को खरीद रहे है,ज्यादातर व्यापारी मंडी में खरीदी करने नहीं आ रहे जिसके चलते जो व्यापारी आते हैं अपनी मनमानी रेट से किसानों का अनाज खरीद रहे हैं उन पर दबाव बनाया जाएगा और ज्यादा से ज्यादा व्यापारियों को बुलाकर किसानों की खरीदी करवाई जाएगी ।मौके पर पहुंचे हुजूर तहसीलदार जितेंद्र तिवारी ने भी माना कि किसानो के साथ अन्याय हो रहा है और उनका अनाज सस्ते रेट पर खरीदा जा रहा है तहसीलदार ने कल से अधिकारियों से चर्चा कर समर्थन मूल्य पर किसानों की फसल खरीदने का आश्वासन दिया है और ऐसे व्यापारियों को चेतावनी दी है कि अगर किसानों का अनाज उचित रेट पर नहीं खरीदते हैं तो उनके लाइसेंस निरस्त कर दिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *