नवविवाहिता की मौत पर अस्पताल में हंगामा

Share with:


Virat24news

्रनवब्याहता की मौत पर अस्पताल में हंगामा, परिजनों ने लगाया दहेज हत्या का आरोप
– सीधी जिले के चुरहट थाना क्षेत्र का मामला
रीवा। अस्पताल में भर्ती नवब्याहता की मौत पर गुरूवार की सुबह उस वक्त हंगामा हो गया जब मृतका के मायके पक्ष के लोगों ने ससुरालजनों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया। दोनो पक्षों के बीच तनातनी के चलते तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया और जांच उपरांत उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया है। अस्पताल चौकी पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही उपरांत शव का पीएम करा परिजन के सुपुर्द कर दिया है और मार्ग कायम मामले की जांच हेतु केश डायरी संबंधित थाने को भेज दी गई।
जानकारी के मुताबिक चुरहट थाना के ग्राम मवई निवासी अंतिमा यादव पत्नी हीरालाल यादव 23 वर्ष को गंभीर हालत में उपचार के लिये संजय गांधी अस्पताल में दाखिल कराया गया था। तकरीबन एक माह से चल रहे उपचार के उपरांत बुधवार व गुरूवार की दरमियानी रात अंतिमा की मौत हो गई। महिला की मौत पर परिजनों ने पति सहित ससुरालजनों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। गुरूवार की सुबह जब मायके व ससुराल पक्ष के लोग आमने-सामने आए तो विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। मायके पक्ष के लोगों ने पति व उसके परिजनों को महिला की मौत का जिम्मेदार ठहराते हुये कार्यवाही की मांग करने लगा। अस्पताल में हो रहे हंगामे के बीच पहुंची पुलिस व एसडीएम ने आक्रोशित लोगों को शंात कराया और जांच उपरांत उचित कार्यवाही का अश्वासन दिया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइस के बाद मामला शांत हुआ और शव का पीएम कराया गया।

– एक वर्ष पूर्व हुआ था विवाह
मायके पक्ष के लोगों ने जानकारी देते हुये बताया कि अंतिमा का मायका रीवा के नईगढ़ी में है। अंतिमा का विवाह एक वर्ष पूर्व 25 अप्रैल को सीधी के चुरहट मवई निवासी हीरालाल के साथ सम्पन्न हुआ था। बताया गया कि शादी के बाद से ससुराल के लोगों द्वारा उसे दहेज के लिये प्रताडि़त किया जाता था। मृतका के पिता का आरोप है कि ससुरालजन बाइक व जेवरात की मांग कर रहे थे जिसे ना देने पर अंतिमा को प्रताडि़त किया जाने लगा। ससुरालजनों की प्रताडऩा इतनी क्रूर थी कि उसे ना तो खाने के लिये दिया जाता था और ना ही पीने के लिये बस जानवरों की तरह मारपीट की जाती थी। इस प्रताडऩा के चलते अंतिमा की हालत बिगड़ गई और उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया था।

– शव ले जाने में भी हुआ विवाद
अस्पताल में महिला की मौत पर हुये हंगामे के बाद एक बार फिर विवाद की स्थित उस वक्त निर्मित हो गई जब शव ले जाने की बारी आई। पीएम के बाद अस्पताल से शव निकलने के बाद दोनों पक्ष शव लेने के लिये आपस में भिड़ गए। हालाकि वहां मौजूद परिवार के बड़े बुजुर्गो की समझाइस के बाद विवाद को शांत कराया गया और शव को अंतिम संस्कार के लिये ले जाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *