शातिर अपराधी इरशाद हुआ गिरफ्तार

Share with:


Virat24news

गुढ़ में पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ा, दो साथी भी लगे हाथ

शातिर बदमाश इरशाद गिरफ्तार, 40 पेटी शराब व पिस्टल जब्त

चुरहट से शराब की खेप ला रहा था रीवा
भागते समय बदमाश का नहर में गिरने से टूटा पैर
: अपराध की दुनिया से मादक पदार्थ की तस्करी में पांव जमाने वाले शातिर बदमाश इरशाद को आखिरकार पुलिस ने पकड़ ही लिया। इरशाद कई माह से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। देर रात मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच ने पुलिस टीन अलग-अलग टीम के साथ दबिश देकर गुढ़ थाना क्षेत्र से उसे गिरफ्तार किया। बदमाश के पास से एक लोडेड पिस्टल, बोलेरो में लोड 40 पेटी शराब बरामद की गई है। साथ ही दो अन्य साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं भागने के दौरान बदमाश का पैर फैक्चर हो गया, जिसे एसजीएमएच में भर्ती कराया गया है।
रीवा। कार्रवाई को लेकर पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने बताया कि मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात तकरीबन 2 बजे मुखबिर से सूचना मिली कि इरशाद पुत्र मुराद खान निवासी अमहिया थाना सिविल लाइन अपने दो अन्य साथी दिवाकर पटेल पुत्र शिवनाथ पटेल निवासी टीकर थाना गोविंदगढ़ और सूरज चौरसिया पुत्र गोपाल चौरसिया निवासी ग्राम खजुहा थाना गुढ के साथ बोलेरो क्रमांक एमपी 53 सी 0782 में शराब की खेप लेकर सीधी जिले के चुरहट की तरफ से रीवा की ओर आ रहा है। मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक ने शराब सहित शातिर बदमाशों की धरपकड़ के लिए डीएसपी राजीव पाठक के नेतृत्व में तत्काल टीम गठित कर पकड़ने का निर्देश दिया। जिसके बाद पुलिस की टीम ने गुढ़ के समीप नहर के किनारे घेराबंदी कर लिया। जैसे ही शराब से लोड बुलेरो को रुकवाया गया तभी शातिर बदमाश पुलिस की घेराबंदी तोड़कर भागने का प्रयास करने लगा। इस दौरान नहर में गिरने से उसका पांव फैक्चर हो गया। तत्पश्चात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा बोलेरो सवार उक्त दोनों तस्करों को भी पकड़ लिया गया। वाहन की तलाशी के दौरान 40 पेटी देशी शराब बरामद की गई है। वहीं इराशाद के पास से एक लोडेड पिस्टल मिली है, जिसमें 4 जिंदा कारतूस थी। इस कार्रवाई में क्राइम ब्रांच के राजीव पाठक के अलावा बिछिया थाना प्रभारी शिवपूजन मिश्रा, विवि थाना प्रभारी अवनीश पाण्डेय एवं गुढ़ थाना प्रभारी अरविंद राठौर की टीम शामिल थी। जिसमें आरक्षक आरक्षक दीपक मिश्रा, संदीप शुक्ला, अंकित पटेल, शशांक, पवन पाठक, हाफिजुर रहमान, अनुरोध तिवारी, अनिल आठ्या और तुलसी की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

10 हजार का था इनाम
पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने बताया कि लगभग 1 माह पूर्व शातिर बदमाश इरशाद के घर में दबिश देकर भारी मात्रा में कोरेक्स और शराब सहित हथियारों का जखीरा पकड़ा गया था। इस दौरान तकरीबन ढाई लाख रुपये से ज्यादा जप्त किउ गउ थे। कार्रवाई के दौरान इरशाद पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल था। तब से इसकी तलाश की जा रही थी।े इरशाद की गिरफ्तारी के लिए एसपी द्वारा 10 हजार का इनाम घोषित किया गया था।

प्रदेश के कई थानों में दर्ज हैं सैकड़ों अपराध
इरशाद प्रदेश का निगरानीशुदा बदमाश है। जिसके खिलाफ प्रदेश के अलग-अलग थानों में सैकड़ा भर से अधिक अपराध दर्ज हैं। इसमें हत्या का प्रयास व चोरी के ज्यादातर मामले हैं। इरशाद पूर्व में एक चोर गिरोह बनाकर आधा सैकड़ा से ज्यादा बड़ी चोरियों को अंजाम दे चुका है। जबकि बीते कुछ वर्षों से शराब, नशीली कफ सिरप सहित हथियारों का कारोबार संचालित करने लगा था। इरशाद कुछ माह पूर्व ही जेल से छूट कर बाहर आया था।

शहर में ही काट रहा था फरारी
पुलिस के मुताबिक शातिर बदमाश इरशाद शराब और नशीले कफ शिरफ का कारोबार शहर के अमहिया और बाणसागर कॉलोनी से संचालित किया करता था। ये दोनों कारोबार बड़े पैमाने पर करता था। इरशाद के गिरोह में 10 साल के किशोर से लेकर 24 साल तक के युवक शामिल थे। जिनको वह खुद नशे की लत लगाने के साथ ही नशे का कारोबार संचालित कराता था। इरशाद इन युवकों के हाथ में हथियार भी सप्लाई कर आता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *