डीएसपी की हत्त्या करने वाले गिरफ्तार

Share with:


Virat 24 news

भोपाल के अवधपुरी में रह रहे डीएसपी को घर के अंदर घुसकर गोली मारके की गई हत्या, आरोपी गिरिफ्तार रीवा जिले के गढ़ थाना क्षेत्र के लालगाव चौकी के ग्राम सोनवर्षा निवासी स्वर्गीय दिनेश सिंह विशेन का पुत्र हिमांशु है मुख्य आरोपी

भोपाल के अवधपुरी में बुधवार की शाम तब तहलका मच गया जब एक युवक ने डीएसपी के घर में घुसकर डीएसपी को गोली मार के उनकी जान लेली. वहीं डीएसपी गोरेलाल अहिरवार जिनकी हत्या की गई वो पुलिस मुख्यालय के सीआईडी शाखा में पदस्थ थे. बताया ये जा रहा है की उनका आरोपी के साथ कोई पुराना विवाद था. यह भी बात सामने आई की आरोपी डीएसपी की बेटी का फेसबुक मित्र था. वहीं पुलिस ने घेरा बंदी करते हुए आरोपी को देर विदिशा से गिरफ्तार कर लिया.
मिली जानकारी के मुताबिक डीएसपी गोरेलाल ने अपनी बाईपास सर्जरी पिछले महीने ही करवाई थी. जिससे वो अवकाश में थे. बुधवार की शाम 7:15 के आस पास हिमांशु सिंह उनके निवास स्थल पहुंचा था. वही हिमांशु का अक्सर उनके यहां आना जाना लगा रहता था. डीएसपी और हिमांशु के बीच कुछ बाते चल रही थी तभी अचानक दोनों में विवाद की स्थिति निर्मित हो गई.
जब इन दोनो के बाते तेज हुइ तो डीएसपी की बेटी डॉ. अनीता चौधरी ने समझाने की कोसिस की और हिमांशु को जाने के लिए बोला. उसके बाद वो बाहर गया लेकिन फ़ौरन ही वापस आया और डीएसपी गोरेला अहिरवार के ऊपर गोली दाग दी. उसके बाद ही मौके से वो भाग गया. इस घटना के दौरान परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद रहे जिसमे उनकी बेटी अनीता और बहु राखी मौजूद थीं.
हिमांशु सिंह रीवा जिले के गढ़ थाना के लालगाव चौकी अन्तर्गत ग्राम सोनवर्षा निवासी स्वर्गीय दिनेश सिंह बिशेन का पुत्र हिमांशु सिंह बिशेन है जो लंबे समय से मा के साथ भोपाल में रहता है। जिसने डीएसपी पर गोली चलाई थी और उनकी हत्या की. हिमांशु सिंह की माँ जो भोपाल में पुलिस आरक्षक है और नेहरु नगर पुलिस लाइन मे उनका निवास है.
शुरूआती दौर की जाँच में ये सामने आया की कुछ जमीन का मसला था जिसकी वजह से ये घटना घटी. जांच पूरी होने के बाद ही सही जानकारी मिल पायेगी की असली वजह क्या थी.

यह रही सच्चाई
आरोपी ने पुलिस को बताया कि डीएसपी ओर उसकी माँ के बीच पुराने सम्बन्ध थे जिसकी जानकारी उसे मंगलवार को मा का मोबाइल बनवाने के दौरान हुई जिस युवक ने पहले मा को समझाइस दी और दोनो के बीच बिवाद हुआ इसी बात से आक्रोशित होकर वह डीएसपी को समझाने पहुचा था जहां बातचीत के बाद जब वह घर से बाहर वापस निकला तो डीएसपी ने एक बार गालीगलौच शुरू कर दी जिसके बाद उसने डीएसपी को गोली मरदी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *